• noisyemptiness 9w

    वो भी क्या मंजर होगा
    जब मेरी पीठ में अपने से मरा हुआ ख़ंजर होगा
    यह दिल कभी भीगा ही नहीं तेरे प्यार से
    तो अब क्या बंजर होगा
    ©noisyemptiness