• joshi_himanshi 8w

    कोई दरिया समेटे हुए है हम अपने अंदर...
    ढूंढते है शिद्दत से हर रोज़ तुम्हे उसमें डूबकर...
    ©joshi_himanshi