• cage_of_thoughts 23w

    भोगना पड़ता है इसको,
    इंतज़ार तो पीड़ा है,
    बाहर हवा कई बार होती नहीं है,
    अंदर तुफान तब भी उठ जाता है।

    कौन टाल सका है इसको,
    इंतज़ार लगा रहता है,
    हवाओं के वापिस से बह जाने का,
    उस उठे हुए तुफान के थम जाने का।

    ©cage_of_thoughts