• ria_bindal 10w

    मैं यमुना सी बहती, तुझ ताज को देखती रही
    दूरियों की परवाह किए बिना
    मैं तो तुझे अपने सामने पाकर ही,नाज़ करती रही
    ©ria_bindal