• parttime_shayar 9w

    मत पूछ
    मुझसे
    मेरे सब्र की इम्तेहाँ

    तू करले सितम
    तेरी मर्ज़ी
    जिस हद तक होगी

    वफा की उम्मीद
    तो तुझसे
    है ही नहीं

    हमे तो देखना हैं
    तू बेवफ़ा
    किस हद तक होगी❤