• __sni_pan__ 5w

    Favourite since childhood.
    AND MOTTO OF MY LIFE.
    ����❤️❤️

    Read More

    वृक्ष हों भले खड़े,
    हों घने हों बड़े,
    एक पत्र छाँह भी,
    माँग मत, माँग मत, माँग मत,
    अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ।

    तू न थकेगा कभी,
    तू न रुकेगा कभी,
    तू न मुड़ेगा कभी,
    कर शपथ, कर शपथ, कर शपथ,
    अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ।

    यह महान दृश्य है,
    चल रहा मनुष्य है,
    अश्रु स्वेद रक्त से,
    लथपथ लथपथ लथपथ,
    अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ।

    —हरिवंश राय बच्चन