• sahib05 6w

    सुबह बनारस की दोपहर के वक़्त प्रयाग हो जाऊँ
    शाम-ऐ-अवध तो रात मैं बरेली खुशबू में खो जाऊँ