• shaurya14 10w

    छोड़ दी जो तूने उम्मीदें, मैं तेरी आस हूं।
    गर मुश्किल है डगर, मैं तेरे साथ हूं।।
    जो लफ़्ज़ों में कह न पाई,तेरी वो अल्फ़ाज़ हूं।
    नादान है अगर तू,तो मैं एहसास हूं।।
    आए कभी तेरी जिन्दगी में अंधेरा,
    तो मैं तेरी उजास हूं।
    न पाना कभी तुम खुद को अकेला, मैं तो हमेशा तेरे पास हूं।।
    -------- शौर्या सिंह
    ©shaurya14