• _aayesha 14w

    माँ

    उंगली पकड़ के चलना सिखाया मझे आपने
    कटोरी चम्मच से दूध पिलाया मझे आपने
    वो बस्ता लेकर मझे स्कूल छोड़ने जाते थे
    तो मझे याद है मझे हाथों से खाना भी आप ही खिलाते थे
    जो कभी किसी के साथ न किये, वो सारे मज़ाक
    वो सारी मस्तिया की मैंने आपके ही साथ
    मगर बहोत सताया भी तो है साथ मैंने आपको
    बहोत सी ग़लतियाँ की है मैंने
    या मैं यू कहु मैं अभी भी हु नादान
    वो कभी ना कि थी कोशिशें दिल दुखाने की
    मगर हो गयी वो सारी गुस्ताखियां जाने अनजाने ही सही
    अल्फ़ाज़ भी अब थम से गये है मेरे
    ज़ुबां पे आ नही पाते अब ये
    आज चाहे गुस्सा कर लो, या मार लो मझे
    मगर दिल से माफ़ कर दो मझे
    मेरी पहली मुहब्बत, पहला प्यार हो आप
    किसी और की नही , सिर्फ मेरी जान हो आप।
    ©_ayeshaa