• shashankara 24w

    किसी दरगाह की ख़ुशबू से
    भरे होते है ख़्वाब तेरे
    समझ नही आता
    इश्क़ करुँ या इबादत।।।

    -शशाँक