• theidentityasthejigneshpatel 6w

    Desire & Sense of ownership are interdependent.

    At every experience,
    Desire becomes a personal desire only when it is identified with any kind of experience and merges it with the personal essence,
    And have included selfishness within neutral experience,
    For example, the sense of ownership leads to the idea of ​​consuming the object or person personally.

    Greetings

    कोई भी इच्छा तब तक इच्छा का रूप नही लेती,
    जब तक अपनी इन्द्रियों के द्वारा आप किसी भी अनुभव के मालिक बनने की कोशिश नही करते,

    हरेक अनुभव होते वक्त,
    इच्छा तभी व्यक्तिगत इच्छा बनती है जब किसी भी प्रकार के अनुभव के साथ पहचानित होकर इसको व्यक्तिगत सार के साथ विलीन हो जाती है,
    और तटस्थ अनुभव के भीतर स्वार्थ का समावेश किया है,
    जैसे स्वामित्व की भावना से सवेंदना के द्वारा वस्तु या व्यक्ति का व्यक्तिगत उपभोग करने का विचार आता है।
    (Jignesh Patel, An identity)