• surwar_rahul 33w

    तुम गीत लिख रही हो मुस्कुराहटें बिखेर कर,
    छलकते आशुओं से एक ग़ज़ल बना रहा हूं मैं!!