• roushan_ross 23w

    "शफ़ाक़"

    कैसे भुलु एक क़ासिद सा चमकता चेहरा तेरा उस ख्वाबीदा रात की,
    शफ़ाक़-ऐ-ईद की गुजारिश अब भी याद हैं हमें!!
    ©roushan_ross