• innuminnu 31w

    अश्को की ज़ुबा

    1.मैं अपने अश्को को बहा सकता नही,डर लगता है के कही सेलाब ना आ जाये, युहि किसी के अश्को को बेहने दे सकता नही क्यूकि मुझे तेरना नही आता.

    2.यु तो मेरे अश्को को बेवज्ह बेहने की आदत नही लेकिन उनकी रेहमत ही कुछ ऐसी हुई हम पर के इन अश्को को रुकने की वज्ह नही मिलती.
    ©avengers