• aarti_singh 10w

    Dimaag se bhale samjhdaar ho , Dil nadaan rakhna ,
    Mere sath Kai rakhe , meri yaad me b roza-e-ramzaan rakhna !!!

    Waqt k sath h kaha koi , wo b to tanha h ,
    Tum tanha b ho jao , to hotho par muskaan rakhna !!!

    Me na rahunga har pal sath Tere , bar jau chhod kabhi ,
    Ulfat ka sath Dena , nafrat ka pehlu anjaan rakhna !!!

    Waise to aata rahunga milne tumse ,
    Gum ho jao kahi , to wapas lautne ka farmaan rakhna !!!

    Jinda tha tab , har ik harf tumhare naam tha ,
    Meri ulfat , mere lafz kewal apne darmiyaan rakhna !!!
    ©aarti_singh

    Read More

    3

    दिमाग से भले समझदार हो , दिल नादान रखना ,
    मिरे साथ कई रखे , मेरी याद में भी रोज़ा-ए-रमज़ान रखना ।।

    वक़्त के साथ है कहाँ कोई , वो भी तो तन्हा है ,
    तुम तन्हा भी हो जाओ , तो होठों पर मुस्कान रखना ।।

    मैं न रहूँगा हर पल साथ तेरे , गर जाऊ छोड़ कभी ,
    उल्फ़त का साथ देना , नफरत का पहलू अनजान रखना ।।

    वैसे तो आता रहूँगा मिलने तुमसे ,
    गुम हो जाऊं कहीं , तो वापस लौटने का फ़रमान रखना ।।

    ज़िंदा था तब , हर इक हर्फ़ तुम्हारे नाम था ,
    मेरी उल्फ़त , मेरे लफ्ज़ केवल अपने दरमियान रखना ।।
    ©aarti_singh