• kt_vox 5w

    मत आजमा हमे इश्क़ की नुमाइश में,
    हम मामूली हीरे नहीं जो बिक जाये हर एक की ख्वाइश में.
    वक़्त रहते परख जाओ तुम कीमत हमारी..
    क्योकि कोहेनूर मिलता नहीं है बाज़ारो में।
    ©kt_vox