• overthinker_thoughts 27w

    वो बिल्कुल बारिश के जैसी थी,
    जब भी आती थी चेहरे पर एक मुस्कान लाती थी,
    और पलकें भिगोकर चली जाती थी,
    हाँ कुछ एसी बनारस की बारिश।

    ©overthinker_thoughts