• kamenagolu 31w

    कैसे भूलू तुझे

    कोई झूठा ख्वाब होती तो भुल जाता,
    तुम तुम नहीं आप होती तो भुल जाता,
    अगर तुम ना आती उस वक़्त मेरी रुह बनकर,
    तो ये जिस्म कब का जलकर खाक हो जाता !!
    ©kamenagolu