• shreyah 9w

    ।। मोहब्बत है इसलिए जाने दिया ,
    ज़िद होते , तो बाहों में होते ! ❤️��।।
    -- इरफ़ान खान

    Read More



    सुनो , तुम मान जाओ अब , हर कोशिश मेरी बेकार है ,
    वो कहता है , है कुछ नहीं , सब मोहब्बत का बुख़ार है !
    तुम ग़लत नहीं हो सकते , है बेशक मेरा ही कोई कसूर ,
    ख़ैर...तुम्हे वक्त मिले कोई , तो कभी मिलना ज़रूर !

    सुनो ,तुम रुक क्यूं नहीं जाते , तुम बिन ज़िंदगी बड़ी बेज़ार है,
    वो कहता है , है कुछ नहीं , सब बे-मतलब का प्यार है ,
    तुम सलाह सही देते हो , है चढ़ा बेशक मुझे ही कोई फितूर ,
    ख़ैर... तुम्हे वक्त मिले कोई , तो कभी मिलना ज़रूर !

    सुनो , तुम ठहरो तो ज़रा , तुम गए तो मेरी सबसे बड़ी हार है ,
    वो कहता है , है कुछ नहीं , अभी इश्क है , सवार है ,
    तुम कहां मुझसे टकराए धे , है ख़ता बेशक मेरी ही हुज़ूर ,
    ख़ैर...तुम्हे जो वक्त मिले कोई , तो कभी मिलना ज़रूर !
    ©shreyah