• own_feelings 9w

    *हैप्पी टाबरिया Day*

    टाबर पणो याद आग्यो...
    ना कोई शैम्पू हुतो, ना कोई कंडीशनर हूतो,
    और ना कोई बेबी शॉप हूती़़़
    माँ पकड़ गुदी हर बिठा पाटा पर मिनटां में
    कपड़ा धोवण की 555 साबण सूँ ही नुहा देती
    जे घणी ची ची पी पी करता तो कान के ऊपरां
    की आती 2-3 ....
    फेर नूहाये बाद पकड़ ठोडी र बाल बा देती
    सागे हीआँख्याँ में काजल घाल देती.
    एकदम टांटिया ब्रांड बणाके कहती.....
    ."जा म्हारा शेर,,अब खेल माटी मा "
    ©own_feelings