• surajsky 22w

    वो बचपन के दिन

    वो बचपन के दिन थे
    जब फिक्र, चिंता से हम कोशों दूर थे
    ना कुछ खोने का डर था, ना कुछ पाने की उम्मीद
    अपने मर्जी के मालिक थे,खुद ही राजकुमार थे