• ashwatthama7 9w

    Hostel के वह दिन

    याद आ रहे है वह पल
    रात रात भर PUBG खेलना
    कालेश्वर को अपना अड्डा बताना

    वह Pradyumn और ganesh का पुरे Wing में चिल्लाना
    तोह Mangya का औरंगाबाद के बधाइयां हाकाना

    १६ में Zade का टेरर , १७ में Borwade के एक्सपेंसिव प्रोडक्ट
    चुपी रहती थी हमेशा Sourabh के मुंह पर, हटाने भिड़ जाते थे Tiger

    पढ़ाई करते करते थकती नही थी रूम न. सतारा
    जब भी देखो तोह Ravi और Gajju होता था पढ़रा

    खिड़की की थी बात ही निराली
    तभी तोह Rohit और Bunny ने अपनी हुकूमत थी जमाई

    १९ रूम थी Senior कि पसंदीदार
    Bajya डांस में माहिर और Jamkar फिर से फरार

    २० न. थी हमारा PUBG कट्टा
    सारे पिरो होते थे यहां इक्कठा

    आलसियों से भरी पड़ी थी रूम न. इक्कीस (२१)
    दिलफेंक Rushya और Akash ने ना जाने कितने लड़कियों पर की होगी कोशिश

    घ्यान चाहिए तोह रूम न. २३ में आना
    २२ में बकचोदी किए गुजर गया जमाना

    Naru , Kunal aur Jondhale का था deadliest ट्रिओ
    Aghav और Nishi के अटेंडेंस के रिकॉर्ड को तोड के बताओ

    आखरी तक रहें shailesh, Niraj और Tushar हमारे लिए अतंकवादी
    फिर भी इधर ही आके करते थे ये धतिंगीरी


    आज मागे वलुन पाहिले तर कलोट दिसला .. अचानक मागुन आवाज़ आला ...ये Akshya ... मागे वलुन बघितले तर एक व्यक्ती खिशात हात टाकुन पळत होता आनी त्याच्या मागे कुत्र लाग्लेला होत

    आमचा CR भारी, आमचे Potte भारी ,
    मायला आमची Batch लई भारी

    जय संघर्ष
    ©ashwatthama7