• flame_ 7w

    @amerewriter see लिख दिया��magical too nhi hai par... tum magic jrur ho❤️❤️❤️������

    Read More

    कुछ नहीं

    कहने को अब बातें नहीं ,
    जो बिताई थी हँसी-खुशी
    वो हसीन रातें नहीं!!

    कहने को अब नाते नहीं,
    खुद की यादों से बढ़कर
    कोई बची यादें नहीं!!

    कहने को अब कुछ नहीं,
    जो दिल में दफ़न ,
    ग़मगीन जज़बातों का कफ़न
    ही सही!!

    कुछ नहीं है मेरे पास बताने को,
    कुछ नहीं बचा हँसने हँसाने को,
    आँसू झूठी हँसी में अनायास ही छुप जाते ,
    अपना कोई खुशनुमा क्षणभंगुर स्वरूप ले आते!
    हाँ!कुछ नहीं बताने को!!!

    शून्य है सब,
    कैसे हुआ!?
    माफ करना,
    मैं नहीं जानती कब!!
    रिक्त फ़कत है जो भी
    अब,
    रिक्त में भी क्या
    कुछ शेष बचा है!?
    बस यहीं खोज रहा है मेरा झुंझलाता मन।।
    ©flame_