• neha_thakkar_ 23w

    आने वाला पल जो ना आया है, क्या पता कब आयेगा;

    फिर क्यों है तुजे ऊसकी फिकर

    मुस्कुराने की वजह ढूंढॅ ले ‘ए साथी’,गम तो ढूंढॅ ही लेगा तुजे हर राह पर।

    ना रो तू अपनी किस्मत पर ना बैठ हालातों से ह़ार कर ,

    तू तो है परिन्दा ऊँची उड़ानों वाला, पंख फ़ैला अपने और उडान भर।
    ©neha_thakkar_