• labhshashank 23w

    3 July 2018

    Read More

    तारे

    दिखते नहीं यार आजकल?
    बस अपनी बनाई हुई चीजें दिखती हैं,
    उड़ती हुई सी मंडराती हुई सी हर जगह बस।

    याद आती है तुम्हारी शहरों में रह के बस,
    यादों में ही रहेंगे क्या अब बस?

    Take a bus maybe? Let's meet in the backyards maybe?
    -labhshashank