• mansi13702patel 31w

    अन्जाने मे ही सही मैने उसका दिल बहुत दुखाया है।
    जिस हाथों को ज़रूरत पड़ने पे उठाया है, उसी से खाना बनाकर मुझे मनाया है।

    अब तुम ही बताओ,
    उसके ना होने से मेरी ज़िन्दगी क्या है?
    ज़िन्दगी तो बहुत छोटा सा लफ्ज़ है, अस्से भी बढ़कर मेरे लिए मेरी माँ है।


    -Komal Sharma🥀