• anil_ugreja 5w

    काम

    इन कच्चे घडो के बीच उम्र कटने लगी है
    ना जाने जिन्दगी क्यू अब किश्तो में बटने लगी है
    बचपना मेरा काम मे झुलस रहा हे
    बाहर से सुलझ मगर अन्दर से
    हर रोज उलझ रहा है
    ©anil_ugreja