• ayushikhamesra 5w

    एक उलझन सी लगी आज दिल को,
    जिसे बयान ना कर सकूँ मैं किसी को

    जिन सवालों के जवाब ढूंढ रही थी,
    वो सारे आज मेरे सामने है
    जाना बहुत खुशनसीब हूँ मैं,
    फिर क्यों ये आँखें नम है?

    ख़ुशी है जो जीवन में नहीं चाहिए होना, वो नहीं है
    तस्सल्ली है जीवन भर का कोई ग़म नहीं है |

    कहते है लोग आते जाते है जीवन में,
    बस उनके कारण कभी भी तुम मत भटक जाना अँधेरे वन में

    जो वक़्त गया बहुत कुछ सीखा गया होगा,
    बहुत से अच्छे लोग तुम्हें नवाज़ा भी होगा

    खैरियत है गन्दगी समय के साथ जीवन से निकल गई,
    और देखो नई राह एक खूबसूरत सा मोड़ भी ले कर आ गई |
    ©ayushikhamesra