• adhure_lafj 23w

    ★बात★

    हुई आरजू भी न मुक़म्मल,
    रही तलब भी अधूरी,

    दबी रही बात फिर दिल में,
    हुई आज भी न पूरी।
    @adhure_lafj