• geshna 5w

    कोई कहता नहीं कह कर जो कलम कहती है,
    वो ख्वाबों में कहते हैं वो जो मोहब्बत कहती है।
    ©geshna