• hem___ 23w

    जाएगी....

    ये सुहावनी शाम भी एक पल में ढल जाएगी।
    ये बेसब्र दिखने वाली बारिश भी अगले पल थम जाएगी।
    तुम यू ही इस दुनिया को बैगरत कहते रहोगे
    और तुम्हारी ये ज़िल्म-ऐ-ज़िन्दगी यू ही शिकायत करते जल जाएगी....

    ©hem___