• ssthakur 4w

    डरे वो हो जिसके मन में चोर,
    चुप रहे वो हो जिसका कुसूर,

    आवाज़ उठाओ अपनी सच के लिए,
    अगर रीढ़ की हड्डी रखते हो हुज़ूर...

    ©ssthakur