• surbhi_verma 9w

    मै फकीर - सा बदनाम ,
    तुम खुदा - सी मशहूर हो ।

    मै वज़ीर - सा गुमनाम ,
    तुम दुआ - सी कबूल हो ।

    रात घूमने का कसूर तो साथ किया था हमने !!
    फिर कैसे मै आवारा !! और तुम चांद का नूर हो ?

    - सुरभि वर्मा