• pallu57 6w

    ग़म नहीं एहसास लिखते है
    कुछ थोड़ी तो कुछ पूरी
    बस हम जज्बात लिखते है!
    ©phrases57