• resh31 4w

    अर्श पर वो चांद मुकम्मल, फर्श पर मोहब्बत हमारी हो
    फलक के आशियाने से बिखरी, चांदी में रोशन किस्मत हमारी हो
    ~Singhal R