• sumerjain 22w

    किस्मत

    जब कुछ नया सोचा किस्मत ने एक नया खेल, खेल दिया।
    जब तक किस्मत के भरोसे रहा,किस्मत हर बार मुझे डराती रही।
    बस छोड़ दिया साथ किस्मत का,यकीन कर ऐ दोस्त किस्मत खुद ही मेरे पास आ गई।
    ©sumerjain