• aanujbachhav 5w

    मलमली जिस्म तेरा ओढ़के सोने का दिल आज भी कर रहा है,
    बाँहों मे तेरी टूट जाने का मन आज भी कर रहा है...
    ©aanujbachhav