• shubham_vishwakarma 10w

    mala.ng

    Read More

    कहने को तो,कहते है पर,
    लफ्ज़ भी थम से गए है !
    पाने की चाहत बहुत है पर,
    ख्वाब भी सिमट से गए है !
    सहने की हिम्मत तो बहुत है पर
    हर कसक भी थम सी गई है !
    "mala.ng"