• _yashika_bhardwaj_ 34w

    Why respect is important for women !

    Read More

    नारी

    है नारी वो सर्वशक्ति हैं
    अभिमान है और स्नेह भी हैं
    है जंग में खड़ी सिपाही वो, अपने बच्चों की पेहरेदार भी है
    है कोमल ममता से भरी हुई , दुर्गा का प्रतिरूप भी है
    तिनका जोड़ घर बनाती है , प्रेम से उसे सजाती भी है
    त्याग का दूसरा नाम है , सपनो की उड़ान भी है
    है आदर की हकदार वो , हक़ से उसे छीनती भी है
    भीनी आँखे लिए हुए , दर्द को वो सहती भी है
    है पत्थर जैसी लोगो के लिए , परिवार के लिए फ़ूल भी है
    है नारी वो सर्वशक्ति है
    अभिमान है और स्नेह भी है ।

    ©_yashika_bhardwaj_