• khush4bharat 5w

    प्रदूषण से खतरनाक मिलावटी खाद्य-पदार्थ

    प्रदूषण का शोर आज मीडिया पर जमकर बरस रहा है। ये प्रदूषण कितने दिन का है मात्र पन्द्रह-बीस दिन का। इससे फिर भी बचा जा सकता है।
    पर अफसोस— —
    क्या किसी ने इस बात पर कभी ध्यान दिया है जो रोज मिलावटी व नकली खाद्य-पदार्थ खाकर अस्पताल की बीमारियों की टेबिल पर गुर्दे, लीवर, हृदय, शुगर, अपंगता, दिमागी आदि बीमारियों से जूझ रहे हैं और आये दिन मर रहे हैं।
    ये प्रदूषण से कहीं अधिक खतरनाक हैं क्योंकि ये 365 दिन इंसानों की जान ले रहे हैं।
    क्या कोई मीडिया, कोई सरकार या कोई भी सामाजिक संस्था इस पर ध्यान देगी या जनता को ऐसे खाद्य पदार्थों के कारण मरने के लिये छोड़ देगी। मगर ध्यान रहे मिलावटी खाद्य-पदार्थ से कोई नहीं बचने वाला।
    “नकली खाद्य पदार्थ का, भारत में है जोर।
    इसलिये सभी बढ़ रहे, अस्पताल की ओर।।”
    📣📣📣
    महेन्द्र खुश मेरठी✍️
    लेखक-पटकथा,कहानी,गीत,कवि व हास्य-व्यंग्यकार।
    ©khush4bharat