• ronit_pant 24w

    मेरी तन्हाई

    मेरी तन्हाई अकसर सवाल पूछती है मुझसे,
    इतनी भीड़ में अकेला क्यों बैठा है तू,
    पूछती है मुझसे
    क्यों गुमसुम ,गुमनाम बैठा है
    क्यों खामोश सुन रहा है तू
    मेरी तन्हाई अक्सर सवाल पूछती है मुझसे।
    अनेक दोस्त है तेरे,
    अनेक रिस्तेदार है,
    पर फिर भी तू बस
    यूँही तू लिखता जारा है
    क्यों उस बड़ी इमारत को छोड़कर,
    यहाँ तन्हा बैठा है
    मेरी तन्हाई अक्सर सवाल पूछती है मुझसे।।
    ©rohit_pant