• _akshaj_ 5w

    एक दिन तुझसे मुलाक़ात ज़रूर होगी,
    जज़्बातों की इन बेक़ाबू लहरों को, साहिल की दहलीज़ ज़रूर नसीब होगी

    ©_akshaj_