• vruvii 5w

    लगता है कसूर उनके गुरूर का है, वरना समझ जाते वो बी किसी का दर्द कभी।
    जस्सबातो की कीमत क्या वो समझें, जिन के सूख गए हो आंसू सभी।
    उन्नहे तो बस अपना आप ही नजर आता है, अन्नधे हो गए अपनी खुद्धघरज़ी में कहीं।
    भूल गए है यह बी की जितना खुदा उनका है, उतना ही है वो मेरा बी।
    -वृन्दा