• solivagant_07 5w

    परेशान हो गयी में दुनियादारी से
    आज खुद पे प्यार आ रहा हैं
    नाही आरजू आबरू जुस्तजू कुछ नहीं रहा
    सिर्फ खुद के संग लगाव छा रहा हैं
    मद्धम हल्का हल्का आहः
    खुद के साथ एक सुकून सा महसूस हो रहा हैं |
    ~Vaishnavi ❣