• isharaj 6w

    #gulamayub# #urslovepriya# #writingbyheart# #itsmaahi# #thoughtless_writer#
    Please mere iss poem se koi bura na lagayein, maine nahi pyar ko galat bola hai aur nahi pyar karne walon ko.....maine sirf jhuthe pyar karne walon ke liye likha hai aur un logon ke liye jo do din ke pyar ke liye bachpan se kiye hue maa papa ke pyar ko bhul jate hain......please support me and like my poem if you like it from heart ����

    Read More

    मेरी खूबसूरती की तुलना चाँद से करके,
    तुम्हें क्या लगता है तुम मुझे बहलाओगे?

    लेट होने पर मेरी माँ जितनी बेचैन हो जाती है,
    क्या तुम कभी मेरे लिए उतने बेचैन हो पाओगे?
    अपने पापा का दूलारा बेटा हूँ मैं,
    बाबू-सोना करके क्या उस बेटे को जीत जाओगे?

    अरे! मैं ठहरी माँ-बाप से प्यार सीखने वाली,
    और तुम ठहरे हर दूसरे चेहरे पर मरने वाले
    सिर्फ़ रट्टे हुए filmy dialogues सुनाने वाले
    अब तुम मुझे इश्क के बारे में बताओगे ?
    ©isharaj