• zindagi_ek_khwab_si 24w

    तेरे जाने के बाद,तुझको भूल जाने तक का ख्याल नही आया मुझको

    तूँ किसी और की ना हो जाये..इस ख्याल ने भी बहुत रूलाया है मुझको

    जिस बारिश मे भीगने की ख्वाहिश तेरे संग थी,उसकी हर बूंद ने बहुत तड़पाया है मुझको

    जो हर पहर रात मे बिताया करता था संग तेरे,उस पहर बिस्तर ने भी तन्हा पाया मुझको

    संग तेरे जितने भी ख्वाब देखा था मैंने, उन हर इक ख्वाब को तेरे संग ही पूरा करना है मुझको

    हम निभा देंगे इक बेटे और बेटी का फर्ज .....
    तूँ इस जनम भी मेरी है,और हर जनम सिर्फ मेरा होना पड़ेगा तुझको

    मै बिखर जाऊँ या दफ़न हो जाउंगा, पर हर सांस मे रहती हो ,ये याद रहेगा मुझको
    ✍️Zindagi_ek_khwab_si© Shubham