• rajali 22w

    Sha

    Read More

    Muhbbat me muhbbat se muhbbat mangta hun mai
    Hai tere dim me kya ye bhi janta hun mai
    Tujhe hi duao me aksar manga hun mai
    Hai teri bhi majburi ye bhi janta hun mai


    मुहब्बत में मुहब्बत से मुहब्बत माँगता हूँ मैं
    है तेरे भी दिल में क्या ये भी जनता हूँ मै
    तुझे ही दुआओ में अक्सर माँगता हूँ मैं
    है तेरी भी मजबूरी ये भी जनता हूँ मैं

    ©rajali