prit_am

www.instagram.com/prit_am1803

You know: "Beautiful is my favourite colour"

Grid View
List View
Reposts
  • prit_am 60w

    आँखों में रख लो

    आँखों में रख लो।
    ख़्वाहिशों में तो हम बहुतों के हैं।।
    दिल में रख लो।
    दुआओं में तो हम बहुतों के हैं।।
    ©prit_am

  • prit_am 63w

    कश्मकश

    ज़िन्दगी है, थोड़ा बहने दो।
    खामोशी है, तो थोड़ा रहने दो।।
    कोहराम सा मचा है, उन राहों पर।
    उस मंज़र को भी पाना है, थोड़ा सहने दो।।
    ©prit_am

  • prit_am 64w

    अनकही बातें

    जब सवाल खुद से हो, तो जवाब कैसा।
    जब कश्मकश खुद से हो, तो मलाल कैसा।।
    जब तुझमें मैं हूँ, मुझमें तू है।
    तब खुद से खुद की काबिलियत का सवाल कैसा।।
    ©prit_am

  • prit_am 69w

    तुम

    हवाओं में तो थे तुम हीं, दुआओं में भी तुम ही हो।
    ज़िक्र में तो थे तुम हीं,पन्नों में भी तुम ही हो।।
    ©prit_am

  • prit_am 70w

    मलाल

    मुलाक़ात हुई तुझसे, पर थोड़ी देर सी हो गयी।
    बातें हुईं तुझसे, पर मोहब्बत मुझे थोड़ी देर सी हो गयी।।
    तेरी बातों से इश्क़ की आहट, मुझे थोड़ी देर से लगी।
    अब स्याही मेरी जुबाँ हैं, क्योंकि इज़हार में थोड़ी देर सी हो गयी।।
    ©prit_am

  • prit_am 72w

    सफ़ऱ

    दर्द मेरे साथ बड़ी दूर तक गयी, तन्हाई भी सफ़ऱ में थी।
    पायी ना जब मुझमें थकान, तो दोनों ख़ुद थक कर हमें अकेला छोड़ गयी।।
    ©prit_am

  • prit_am 75w

    जाने-अनजाने

    वो लम्हें, वो किस्से, बस अब एक एहसास बनकर रह गये।
    उन गलियों में बिताये थे जो साल, बस अब याद बनकर रह गये।।
    थामने की हिदायत थी, बस उन्हें अपने दिल की धड़कनों में।
    ना जाने कब वे, बस अलफ़ाज़ बनकर रह गये।।
    ©prit_am

  • prit_am 75w

    इश्क़-ए-रेख़्ता

    यूँ तो शिक़वे हज़ार हैं उनसे, शिकायतें भी हैं उनसे।
    पर इश्क़ इस क़दर ज़हन में हैं उनसे, उनकी बेरुख़ी से भी मोहब्बत बेशुमार हैं उनसे।।
    ©prit_am

  • prit_am 78w

    कलह

    फिर से सँभलने लगा हूँ मैं, रास्तों पे अकेले चलने लगा हूँ मैं।
    लोगों को लगा बदलने लगा हूँ मैं, उन्हें क्या पता खुद से फिसलने लगा हूँ मैं।।
    ©prit_am

  • prit_am 82w

    बन्दगी तेरी

    तेरी ना में हाँ ढूंढने की चाहत है, मेरे इश्क़ को तुझसे मिलाने की इबादत है।।
    तेरी हंसी बस देख दिल को राहत है, मुझे तेरी यादों में हर पल ग़ुम होने की आदत है।।
    ©prit_am