Grid View
List View
  • r_p 8w

    लमहा

    वो लमहा जी चुका था वो

    वक़्त का कड़वा सच कुछ मीठी यादों मे डाल पी चुका था वो...

    थी ख्वाइश. ज़रूर उस पल से फिर वाकिफ़ होने की

    इसी ख़याल मे एक और आज को कल में जी चुका था वो...

    ©r_p

  • r_p 13w

    दस्तूर

    आज फिर फ़िज़ा से पेट भर एक और रात कट जाएगी
    सुकून की नींद का ख्वाब लिए पलकें झूठ ही गिर जाएंगी

    आज ज़मीर गुरुर भी उधार रख आए हम अपने हिस्से का
    शायद खून पसीने की भी बारी अब जल्द ही आ जाएगी

    ख्वाहिशों के ख्वाब देखना कहा हमारे हैसियत का
    ज़रूरतों की चाहत मे ही पूरी ज़िन्दगी कट जाएगी

    ख़याल आया फिर यूँही क्या वजूद है इस ज़माने मे
    जहां करतूतों से ज्यादा इंसान की दौलत पहचान बनाएगी

    कुछ फर्क ज़रूर है हमारे और रईसों के किस्मत में
    सुना है उनके रातों में सपने कम पड़ जाते हैं

    ज़रा नाज़ुक हैं हालात मगर ना जाने किसका कसूर है
    मुफ़लिस की जिंदगी का शायद यही सच्चा दस्तूर है

    ©r_p

  • r_p 18w

    ललकार

    वो वफादार है मगर बुजदिल नही...

    वो शांत है मगर बिस्मिल नही...

    अपने झुंड से कह दो ललकार की आवाज़ ज़रा धीमी रखें

    उसकी बस आंख लगी है.....वरना तुम्हारा शिकार मुश्किल नहीं...

    ©r_p

  • r_p 21w

    Alvida

    Tera zikr aakhir aab hua
    Saya bhi tera aab dhuaa

    Tere lafz aab khamosh hain
    Palken bhi aab yun na giren

    Vo ishq tera hai khada
    Yun keh raha aab alvida

    Mere khuda Tu hi bata
    Kyu le gaya usse uss jahan

    @r_p

  • r_p 24w

    Love can be superficial love can be for benifits Love of today can be the void of tomorrow...


    @mirakee @mirakeeworld #truth #love #poetry #thoughts #reality #dark

    Read More

    लहजा

    तुमसे नहीं तुम्हारे लहजे से इश्क़ कर बैठा था...
    तुम्हारी आँखों से तुम्हारे होठों से तुम्हारे ज़ुल्फ़ों से इश्क़ कर बैठा था
    वो दिल जिसपे बस हक़ था मेरा न जाने क्यों तुम्हे दे बैठा था
    तुमसे नहीं तुम्हारे लहजे से इश्क़ कर बैठा था....


    वक़्त के साथ अनजान मै उन् ज़ुल्फ़ों मैं उलझता गया
    वक़्त के साथ अनजान मै उन् आँखों मैं डूबता गया
    बस तुम्हे पाने की ख्वाहिश मे खुद को ही भूल बैठा था
    तुमसे नहीं तुम्हारे लहजे से इश्क़ कर बैठा था...


    मगर इस दिल को पाके भी तुम्हे सुकून कहा मिला
    पहले साँसें और फिर मेरे लहु पे भी तुमने हक़ जता दिया
    बस कुछ पानी छिपा रखा था तुमसे मैंने अपनी आँखों में
    ज़ालिमा उसे भी आज मैंने इस ख़त में बहा दिया...


    अब ना मुझे तुम्हारी आँखें ना वो होठ ना ज़ुल्फ़ें दिखती हैं
    दिखती हो तो बस वो तुम जिसे तब मै पहचान सका ना था
    हाँ शायद तब मैं भी अपनी आँखें मूंद कर बैठा था...
    तुमसे नहीं तुम्हारे लहजे से इश्क़ कर बैठा था...

    ©r_p

  • r_p 28w

    Zahir

    Bas bohot hua ye khel nigahon ka janab
    Kahin unnke lafzon se aap annjan na ho jaen

    Zahir kar bhi dein apni hal-e-dil ki dastaan
    Kahi Kal ye zindagi phir viraan na ho jae...

    ©r_p

  • r_p 34w

    Aaj Nahi

    Aaj nahi phir kabhi baha lena vo aansu rukhsat ke

    Aaj nahi phir kabhi lad lena jung usski chahat se

    Iss rooz tho bas muskura ke usse alvida kaho

    Aakhir haqdaar hain vo saath bitaye lamahen iss muskaan ke

    ©r_p

  • r_p 36w

    Word Prompt:

    Write a 8 word short tale on Pride

    Read More

    Pride

    Pride...only armour that can destroy the owner
    ©r_p

  • r_p 36w

    " Darkness is what completes light. If light is something to be admired about so is darkness..."
    ............................................................................................
    Aaj phir teri khoobsurati se waaqif karaya uss andhkar ne...

    Aaj phir teri parchai ko parchai banke sambhala uss andhkar ne

    Mana gurur hai tujhe apni uss chamak par magar...

    Yaad rahe uss chamak Ka astitav hai tho bas uss andhkar mai

    ©r_p
    ............................................................................................
    #darknlight #dark #opposite #reasonofshine #thoughts #truth #life @mirakee @mirakeeworld

    Read More

    Andhkar

    pic © : Sanajna Ingewar

  • r_p 37w

    Maa

    Usski har khwaish ko apni zarurat banaya

    Tumne zindagi hai ussko jeena sikhaya.

    Shukriya na bola kabhi ussne magar....

    Usse sambhala hai tumne har waqt banke ek saya.

    ©r_p