Grid View
List View
Reposts
  • rashmi_mundle 12w

    पाऊस धारा

    रीमझीमणाऱ्या सरी
    बरसतात जेव्हा धरतीवर
    तृप्त होते तिची तृष्णा
    ती ही नटते वेलींवर.
    ©rashmi_mundle

  • rashmi_mundle 12w

    मेरी बेटी, एक अनमोल हिरा, जो वरदान मे मुझे मिला है।
    बेटीयों से घर की रोशनी बरकरार रहती है।

    Read More

    भगवान जी से आज, मैने सवाल किया
    क्यु आपने मुझे संसार का पुरा सुख नही दिया?
    उन्होने मुस्कुराकर जवाब दिया
    मैने "बेटी" के रूप मे तुम्हे, सारा संसार जो दे दिया।
    ©rashmi_mundle

  • rashmi_mundle 14w

    आरश्यासमोर उभी होते
    म्हटलं चला, आज आपण स्वतःला माफ करू
    सगळ्यांची मनं सांभाळण्याची जी चुक केली
    त्या चुकांवर स्वतःच माफीच पांघरूण घालु.
    ©rashmi_mundle

  • rashmi_mundle 15w

    जिंदगी,एक विचार

    जिंदगी से हारकर
    जिंदगी खतम करना
    ये कोई बहादुरी नही है
    मजा तो तब है
    जब जिंदगी हमे अपने इशारों पे नचाये
    और हम नए steps लेके उसीको हराये
    जो जिंदगी हम अपने लिये चुनते है
    फिर क्यु उससे पिछा छुडाने का सोचते है
    जिंदगी तो हमारे अपनों की देन होती है
    उसे सवांरना हम सभी के हित मे होता है
    ए जिंदगी, गर आज मै तुमसे हार जाऊ
    तो तुमही मेरे लिये नयी उम्मीद बनना
    तुम मे समाकर,तुम ही को जीना है
    बस, मेरा इरादा कभी ना टुटने देना।
    ©rashmi_mundle

  • rashmi_mundle 16w

    शर्त लगी थी
    दुनिया मे खजाना ढुंढने की
    सब हिरे मोती ढुंढ रहे थे
    मैने दोस्तोंको सामने किया।
    ©rashmi_mundle

  • rashmi_mundle 16w

    फिक्र बता रही है
    मोहोब्बत जिंदा है
    फासलो से कह दो
    गुरूर ना करे।

    Read More

    तुला माझी काळजी असणं
    हे प्रेम नाही तर काय
    दूर असणं हा निव्वळ दिखावा
    जन्मभराची सोबत हा एकमेव उपाय.
    ©rashmi_mundle

  • rashmi_mundle 17w

    काश, दिल का रिश्ता
    गहरा होने के साथ मजबूत होता
    हम शिद्दत से निभाते उसे
    भले प्यार से वो कोंसो दुर होता।
    ©rashmi_mundle

  • rashmi_mundle 19w

    प्यार

    हाथोंकी लकीरों की क्या मजाल
    जो तकदीर मे लिखे प्यार को रोक सके
    दुनिया मे प्यार के दुश्मन है बेशुमार
    पर कोई भी सच्चे प्यार के खिलाफ ना जा सके।
    ©rashmi_mundle

  • rashmi_mundle 20w

    संयम रखे आवाम

    इस कोरोना ने ये क्या किया
    कैसे करे तेरा शुक्रीया
    अपने ही घरमे जो हुए थे गुम
    उन सबको एक ही धागे से जोड दिया।
    फिरसे जीये वो खोये हुए पल
    रामायण महाभारत का छा गया सन्नाटा
    फिरसे देखी पुरानी सीरीयल्स
    भुल गये इस्तमाल करना मोबाईल डाटा।
    एक बार फिर डायनिंग टेबल पर
    ठहाकों की गुंजी आवाज
    जैसे घर, घर ना हो
    वो है एक खुबसुरत साज।
    हां, हो रही है थोडी परेशानी
    करने पड रहे घरके सब काम
    तुम रहने दो, मै करता हु
    ये कहेकर एक दुसरे का हाथ रहे थाम।
    आजतक कभी ना सोचा था
    इस तरहा घर मे रहेंगे बंद
    बाहर से ज्यादा घर मे होंगे
    सुकून और आराम के लम्हे चंद।
    खैर, ये भी वक्त कट जायेगा
    और फिरसे रास्तों पे होंगे लोग तमाम
    कुछ पाने के लिये कुछ खोना है
    संयम धरे जी रही आवाम।
    ©rashmi_mundle

  • rashmi_mundle 20w

    ग्वाही

    हसवता हसवता रडवलं
    तुझं तोडून वागणं कधी कळलच नाही
    एकदाच जर मला सांगितलं असत तर
    माझ्या मरणाची मीच दिली असती ग्वाही.
    ©rashmi_mundle